मीठी नीम क्या है? मीठी नीम के फायदे और नुकसान | 5 Mithi Neem ke Fayde in Hindi

मीठी नीम क्या है? मीठी नीम के फायदे और नुकसान

मीठी नीम या कढ़ी का पत्ता का सबसे ज्यादा इस्तेमाल व्यंजन बनाने में किया जाता है। मीठी नीम की पत्तियों का प्रयोग रसेदार व्यंजन को बनाने में किया जाता है और इसीलिए इसे कढ़ी पत्ता भी कहा जाता है। इसका प्रयोग वैसे तो ज्यादातर पकवान बगैरा बनाने में किया जाता है लेकिन इसके साथ ही मीठी नीम में कई प्रकार के औषधीय गुण भी पाए जाते हैं।

मीठी नीम का पेड़ कैसे होता है?

मीठी नीम क्या है? मीठी नीम के फायदे और नुकसान
मीठी नीम क्या है? मीठी नीम के फायदे और नुकसान

मीठी नीम या कढ़ी का पेड़ छोटा होता है। और यह 6-12 फीट उंचा होता है, तथा इसके तने की मोटाई 40 सें.मी. तक होती है। इसकी हर टहनियों में 10-12 पत्तीदार कमानियां होती है जिस पर 2-4 सें.मी. लम्बी व 1-2 सें.मी. चौड़ी पत्तियाँ लगी होती हैं। जो देखने में बिल्कुल कड़वी नीम की तरह ही होती है। मीठी नीम में छोटे-छोटे फल लगते हैं और पकने पर काले रंग के हो जाते है। मीठी नीम का वानस्पतिक नाम Murraya koenigii है।

मीठी नीम का फल - करी का फल
मीठी नीम का फल
नाममीठी नीम, करी पत्ता या कढ़ी पत्ता
वानसपतिक नाममुराया कोएनिजी (Murraya koenigii)
जगतपादप
उपयोगव्यंजन बनाने में व औषधि के रूप मे

मीठी नीम के उपयोग

मीठी नीम का उपयोग सबसे ज्यादा व्यंजन में स्वाद को बढ़ाने के लिए किया जाता है। व्यंजनो में मसाले के साथ मीठी नीम का प्रयोग काफी ज्यादा होता है। और इसकी पत्तियों को पीसकर चटनी भी बनाई जाती है। इसके अलावा मीठी नीम का प्रयोग कई प्रकार की औषधि तैयार करने में किया जाता है। चलिए जानते हैं मीठी नीम के फायदे औऱ नुकसान के बारे में।

मीठी नीम के फायदे या मीठी नीम के गुण – Curry leaves benefits in hindi

यदि आप घर पर मीठी नीम लगाते हैं तो आपको इससे कई फायदे मिल सकते हैं। जैसे

मीठी नीम की पत्तियो में खास गुण होता है जिससे व्यंजन में इसकी पत्तिया डालने पर स्वाद बढ़ जाता है। और इसकी पत्ती की चटनी भी बनाई जाती है। और कुछ प्रकार की नमकीन आदि में भी मीठी नीम की सूखी पत्तियां डाली जाती है। इसके साथ ही इससे कई प्रकार की जड़ी-बूटिया तैयार की जाती है।

मीठा नीम के औषधीय फायदे

मीठी नीम आपके बालों के लिए फायदेमंद होता है, यह आपके बालो को झड़ने से रोकता है। और बालो को स्वस्थ रखता है। मीठी नीम को पानी में उबालकर जब पानी का रंग हरा हो जाए तो उसे ठंडा कर के बालों में 15-20 मिनट तक लगाए। हफ्ते में 2 बार इसका प्रयोग कर सकते हैं।

खाली पेट करी पत्ते खाने के फायदे

  • खाली पेट मीठी नीम की पत्ती चबाने से हमारे पाचन क्रिया अच्छी होती है। और कब्ज से राहत दिलाने में मदद कर सकता है।
  • कड़ी पत्ता को चबाने से वजन कम करने में मदद मिलती है।
  • मीठी नीम में ब्लड कोलेस्ट्रॉल कम करने का गुण पाय जाता है। जो दिल की बीमारियों से दूरी बनाती है।
  • एनीमिया जैसी रोगो से छुटकारा पाने के लिए मीठी नीम का सेवन करना फायदेमंद सावित होता है।
  • मीठी नीम हमारे ब्लड से शुगर का लेबल को कम करने में सहायता करता है। कड़ी पत्ते में कई तरह के एंटी-डायविटीक एजेंज पाये जाते हैं, जो हमारे शरीन में इंसुलिन की गतिबिधि को प्रभावित कर ब्लड में शुगर का लेबल घटाने में मदद करता है।

और अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

सुबह खाली पेट करी पत्ते खाने के नुकसान

यदि कोई गठिया या सर्दी-खांसी वाला मरीज इसका सेवन जरूरत से ज्यादा मात्रा में करता है तो यह हो सकता है कि शरीर में कुछ दुष्प्रभाव भी दिख सकता है। आपको किसी भी बीमारी का इलाज करने के लिए करी पत्ते का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से परामर्श जरूर लेना चाहिए।

Leave a Comment