Skip to content

दवा की टेबलेट में एक सीधी लाइन क्यों होती है? | Tablet ke bich mein line kyon hoti hai

आप सभी लोग बीमार पड़ने पर स्वस्थ्य होने के लिए टेबलेट (गोलियाँ) का तो जरूर इस्तेमाल किया होगा। क्या आपने कभी गौर किया है कि कुछ टेबलेट में बीचो बीच एक सीधी लाइन खीची होती है। इसे देखकर अक्सर मन में ये सवाल आता है कि आखिर क्यों दवाइयों की टेबलेट में एक सीधी लाइन क्यों खीची होती है?

दवा की टेबलेट में एक सीधी लाइन क्यों होती है? | Tablet ke bich mein line kyon hoti hai
दवा की टेबलेट में एक सीधी लाइन क्यों होती है? | Tablet ke bich mein line kyon hoti hai

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आप सभी का हिन्दी रीड दुनिया ब्लॉग पर, यहाँ पर आपको दुनिया भर की ढेरों रोचक बातें, हेल्थ से संबंधित जानकारी और टेक्नोलॉजी आदि से संबंधित जानकारिया प्राप्त होगी। तो चलिए बढ़ते है आज के टॉपिक की ओर-

टेबलेट में एक सीधी लाइन खीचने का क्या कारण है? (Tablet ke bich mein line kyon hoti hai)

किसी भी टेबलेट में सीधी लाइन इसलिए खींची होती है ताकि जरूरत पड़ने पर उसे आसानी से दो बराबर हिस्सों में तोड़ी जा सके। सभी टेबलेट की power अलग अलग होती है और मरीज़ के उम्र के हिसाब से ही दवाई की मात्रा दी जाती है। ऐसे में अगर किसी टेबलेट की पॉवर 500 mg है और उसे किसी छोटे बच्चे को देना है या फिर दो बार में खाना है तो आसानी से दो टुकड़े किये जा सकते है। चूकि टेबलेट में लाइन खींची होती है इसलिए दोनो टुकड़े बराबर मात्रा में ही टूटते हैं।

तो अब आप जान गए होगें कि टेवलेट पर लाइन क्यों होती है? अगर इसके बारे में कुछ और जानना है तो नीचे कमेंट करके पूछ सकते हैं।

और भी जानें

nv-author-image

Rohit Soni

Hello friends मेरा नाम रोहित सोनी (Rohit Soni) है। मैं मध्य प्रदेश के सीधी जिला का रहने वाला हूँ। मैंने Computer Science से ग्रेजुएशन किया है। मुझे लिखना पसंद है इसलिए मैं पिछले 5 वर्षों से लेखन का कार्य कर रहा हूँ। और अब मैं Hindi Read Duniya और कई अन्य Website का Admin and Author हूँ। Hindi Read Duniya पर हम उपयोगी, ज्ञानवर्धक और मनोरंजक जानकारी हिंदी में  शेयर करने का प्रयास करते हैं। इस website को बनाने का एक ही मकसद है की लोगों को अपनी हिंदी भाषा में सही और सटीक जानकारी  मिल सके।View Author posts

Share this post on social!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.