सबसे जल्दी बढ़ने वाला पेड़ कौन सा है?

सबसे जल्दी बढ़ने वाला पेड़ कौन सा है?

क्या आपको पता है दुनिया का सबसे जल्दी बढ़ने वाला पेड़ कौन सा है? हेलो दोस्तों हिन्दी रीड दुनिया में आपका स्वागत है। हमारे आस-पास बहुत सारे पेड़-पौधे मौजूद होते हैं। आप सब ने देखा होगा की हमारे सामने कई छोटे-छोटे पेड़ कुछ वर्षो बाद बड़े हो जाते है। आपने गौर किया होगा कि सभी पेड़ो की ग्रोथ अलग-अलग होती है। कुछ पेड़-पौधे बहुत जल्दी बड़े हो जाते हैं। तो वही कुछ पेड़-पौधे काफी समय तक धीरे-धीरे बढ़ते रहते हैं।

दुनिया का सबसे जल्दी बढ़ने वाला पेड़ कौन सा है?

बाँस सबसे जल्दी बढ़ने वाला पेड़ या घास है, जो कि एक दिन नें करीब 1 मीटर तक भी बढ़ जाता है। लेकिन सामान्यतः इसकी बढ़ने की गति 24 घंटे में 121 सेण्टीमीटर (47 इंच) होती है। बाँस का पेड़ 59 दिनो में पूर्णतः बढ़ जाता है।

दुनिया का सबसे जल्दी बढ़ने वाला पेड़ कौन सा है?
सबसे जल्दी बढ़ने वाला पेड़

बाँस Gramineae कुल की एक अत्यंत उपयोगी घास है, जो कि भारत के सभी क्षेत्रो में आसानी से उग जाता है। बाँस की कई प्रजातिया पाई जाती है जिनमें से मुख्य हैं बैंब्यूसा (Bambusa), डेंड्रोकेलैमस (नर बाँस) (Dendrocalamus) आदि है। बैंब्यूसा शब्द मराठी के बैंबू शब्द का लैटिन नाम है। इसके लगभग 24 वंश हमारे भारत में पाए जाते हैं।

सबसे जल्दी बढ़ने वाला पेड़ बांस
सबसे जल्दी बढ़ने वाला पेड़ बांस

बाँस पृथ्वी पर सबसे तेज बढ़ने वाला काष्ठीय पौधा है। इसका तना लम्बा व चिकना, तथा अंदर से खोखला होता है। लेकिन कुछ प्रजातियो का तना अंदर से एकदम ठोस होता है। इसके तना में लगभग 1 – 1 फिट की दूरी पर गाठे पाई जाती है। तथा उपरी भाग पर कुछ शाखाए होती हैं, शुरू में बाँस की उपरी भाग भाले की तरह नुकीला होता है। और जब तक बढ़ता है नीचे से उपर तक कोपलो से ढका रहता है।

बाँस के फल व फूल किस तरह के होते है?

बांस का फूल व फल
बांस का फूल व फल

बाँस का जीवन काल 1 से 50 वर्ष तक होता है। बाँस का पौधा अपने जीवन काल में सिर्फ एक बार ही फलता और इसके बाद नष्ट हो जाता है। इसका फूल सफेद होता है व बीज जौ या चावल के समान होते हैं, लेकिन आकार में बहुत छोटे होते हैं। जब इनमें फूल खिलते हैं तो सभी पत्तिया झड़ जाती है। तथा फल लगने के बाद बाँस का जीवन काल समाप्त हो जाता है। बाँस को किसी भी प्रकार के कीटनाशक की जरूरत नही होती है, यह प्राकृतिक रूप से ही अपने आप ही उग जाते है।

बाँस का पेड़ दूसरे पेड़ से 30% अधिक ऑक्सीजन देता है।

बाँस का पेड़ हवा को ताजा फ्रेश करने में काफी योगदान देता है। बताया जाता है कि बाँस का पेड़ अन्य पेड़ों के मुकाबले 30 फीसदी ज्यादा ऑक्सीजन छोड़ता है।

बाँस से बनने वाले सामान

बांस का उपयोग मुख्य रूप से कागज, डिजाइनिंग फर्नीचर, टेबुल, कुर्सी, चारपाई, टोकरी, घर आदि बनाए जाते है। बाँस काफी मजबूत होता है इसलिए इनका प्रयोग घर या बिल्डिंग्स आदि के निर्माण करने में किया जाता है। इसके अलावा बर्तन बनाने में भी बाँस का इस्तेमाल किया जाता है।

बाँस से कई प्रकार के वाद्य यंत्र जैसे बासुरी, वॉयलिन आदि बनाए जाते हैं। बाँस का तना जब कोमल होता है तो उसका आचार तथा मुरब्बा बनाया जाता है। बाँस की लकड़ी बहुत उपयोगी होती है और छोटी-छोटी घरेलू वस्तुओं से लेकर बड़े बड़े मकान तक बाँस की मदद से बनाए जाते है।

बाँस से कागज कैसे बनता है?

कागज बनाने के लिए बाँस उपयोगी साधन है। बाँस से कागज बनाने के लिए बाँस की पत्तयों को काट छाट कर इसके तनो को छोटे टुकड़ों में काट लिया जाता है। फिर इसे पानी से भरे पोखरो में चूना डालकर 3 से 4 माह तक सड़ाया जाता है। जिसके बाद एक बड़ी सी ओखली में गूँथकर साफ कर लिया जाता है। तथा इसकी लुग्दी बना ली जाती है। इसके बाद इस लुग्दी में आवश्यकता के अनुसार रसायनक डालकर गरम तवों पर दबाकर सुखा लिया जाता है।

सबसे जल्दी फल देने बाला पेड़?

सबसे जल्दी फल देने वाला पेड़ पपीता (Papaya) का होता है जो कि साल भर के अंदर ही फल देने लगता है। इसके बाद क्रमशः अमरूद, लीची, जामुन, आम आदि फल आते हैं। केला भी जल्दी ही फल देने लगता है लेकिन केला का एक पौधा एक ही फसल दे सकता है। इसके बाद पेड़ नष्ट हो जाता है परन्तु इसके जगह पर दूसरे पेड़ उगते रहते है। इसलिए एक बार लगा देने के बाद यह बढ़ता रहता हैं।

आपको यह पोस्ट भी पढ़ना चाहिए

नीम का पेड़ रात को कौन सी गैस छोड़ता है?

पीपल का पेड़ रात को कौन सी गैस छोड़ता है?

ग्लोबल वार्मिंग क्या है?

चाय के बारे में 15 रोचक तथ्य जानिए।

Leave a Comment