रोहित की कविताएं

ठंड मे बिना पानी के कैसे नहाए | Thand me Bina Pani ke Kaise Nahaye (How to bath without water in winter)

रोहित की कविताएं –
साधन नही है, पर साधना है, नीद लगी है, पर जागना है। पॉव थके है, पर भागना है, संघर्ष से नही हारना है। कुछ है नही पर कुछ करना है, हूँ मैं कमजोर न किसी का सहारा…