तीन दोस्त की कहानी

तीन दोस्त

तीन दोस्त की कहानी,
विनय – अरे समीर हम इतना पढ़कर क्या करेंगे, मै तो अपने गाँव में रहुँगा कुछ काम धन्धा करूँगा। मेरा तो वैसे भी पढ़ाई-लिखाई में मन भी नही लगता। विनय – अरे समीर हम इतना पढ़कर क्या करेंगे, मै तो अपने गाँव में रहुँगा कुछ काम धन्धा करूँगा। मेरा तो वैसे भी पढ़ाई-लिखाई में मन भी नही लगता।